जब दिल में हो जज्बा तो कांटें भी फूल बन जाते हैं!

mansaf

आपका टाइम्स सब एडिटर..

नई दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिर्वसिटी के कमप्यूटर साइंस के असिस्टेंट प्रोफेसर  डॉक्टर मनसफ आलम बिहार के गोपालगंज जिले के साधारण   परिवार से तालुक रखने वाले आज कामयाबी के हर उचाईयो को छू रहे हैं! इनके अब्बू बिहार में सरकारी शिक्षक थे,तीन भाइयो में बड़े डॉ आलम ने बताया मैं दसवी तक की पढ़ाई अपने अब्बू के साथ रहकर बिहार में ही किया! उसके बाद मैं 11वी से पोस्ट ग्रेजुएट तक की तालिम अलीगढ़ मुस्लिम यूनिर्वसटी में पूरी की!2004 में वह जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिर्वसिटी में कमप्यूटर साइंस में असिस्टेंट प्रोफेसर बने! उसके बाद कभी पीछे मुड़ कर नही देखा,और आज वह कामयाबी के हर उचाइयो को छू रहे हैं! आपको बता दें! 12 जून को मुम्बई में हुए कलाउड कनेक्ट इंडिया ग्रुप के प्रोग्राम में लेक्चर देने के लिए खास तौर पर बुलाया गया था!इस कार्यक्रम में विप्रो कंपनी के सीओ अरविंद आजाद यारा, डॉ निलय याजनिक प्रोफेसर और चेयरमैन इंनफारमेशन सिस्टम एरिया, एम एस बाला मिशम सीओ आइटी शिपिंग कॉरप्रेसन ऑफ़  इंडिया लिमिटेड, उपस्थित थे!इस प्रोग्राम में बहस का मुख्य मुददा था,सोशल नेटर्वकिंग द्वारा जो परेशानी ये सारी कंपनिया उठा रही हैं उसे दूर कैसे किया जाए! इस मसले पर डॉक्टर आलम ने बहुत सारे गुण  बताए, जिससे ये लोग प्रभावित हुए! इससे पहले ये इंटरनेशनल लेबल पर लेक्चर दे चुके हैं,जिसमें अमेरिका के लॉस बेगास में हुए प्रेस कांफ्रेंस शामिल है! इन्होने 2010 में कमप्यूटर पर एक किताब भी लिखी है,जिसका नाम कन्सेप्ट  ऑफ़ मल्टीमिडिया है!